Custom image

राजभाषा सलाहकार समिति

राजभाषा सलाहकार समिति 2016-17

आज दिनांक 15.11.2016 को राजभाषा कार्यान्वयन समिति के सम्मानित सदस्यों हेतु एक दिवसदिया कार्यशाला आयोजित की गई । जिसमे नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति की ओर से श्री  भगवानदास (सहायक रहभाषा अधिकारी,मण्डल रेल्वे प्रबन्धक कार्यालय)द्वारा प्रतिभागियों को प्रशिक्षित किया गया ।

1) PATRON -  श्रीमती रीना चक्रवर्ती ,प्राचार्य

2) CO-PATRON-  उप-प्राचार्य

- HM

3) MEMBERS- Dr NEETI SHASTRI(PGT-HINDI), Smt MANJU VERMA(TGT HINDI), Smt SUNITI SRIVASTAVA(TGT SANSKRIT),

Smt VANDANA SHUKLA(PGT ENG), Smt A. PHOOKELA(TGT ENG),   Smt UMA TIWARI(LDC).

One day workshop(एक दिवसीय राज भाषा हिन्दीकार्यशाला) was conducted at cluster level in Feb for PGT , TGT-Hindi and office representatives.

विचारणीय बिन्दु एवं कार्यवाही :-

Ø पूर्व बैठक की कार्यवाही की पुष्टि ।

Ø कक्षा 6 से 10 तथा 11 एवं 12 हेतु पाठ क्रमानुसार सत्र क्रमानुसार : पाठयक्रम –विभाजन “ विषय अध्यापकों द्वारा दिनांक 10.04.16 तक प्रस्तुत किए जाने का निर्देश।

Ø राजभाषा हिन्दी अधिनियम का अनुपालन महत्वपूर्ण एवं आवशयक ।

Ø सत्र 2015-16 हिन्दी परिषदीय परीक्षा का परिणाम ,उपलब्धि एवं मूल्याकान ।

Ø वर्ष पर्यन्त की कार्य-योजना का निर्माण। (सत्र 2016-17 ) पाठ्यक्रम – विभाजन । गतिविधि निर्धारण (कक्षा 1 से 12 तक)

Ø पुस्तकालय प्रयोग । छात्रों को स्वध्याय करने हेतु सदैव प्रेरित करें ।

Ø बर्तनी सुधार , व्यावहारिक ज्ञान,छात्रों का प्रोत्साहन ।

Ø भाषा की शुद्धता प्राथमिक स्टार पर विशेष ध्यान दिया जाये ।

Ø अभिव्यक्ति- कौशल में अभिवृद्धि ।

Ø छात्रों को सरल हिन्दी में ,हिन्दी को सरल, सुगम,सुबोध मातृभाषा का प्रयोग करने के लिए बच्चों में भावना भरें ।

Ø हिन्दी सदन पत्रिका में “हिन्दी सामग्री” की प्रस्तुति करने हेतु समिति के सदस्य वर्ष पर्यन्त सहयोग करें

माह क्रम में कार्य आवंटन

जुलाई श्रीमती मंजु वर्मा

अगस्त श्रीमती ए० फोकेला

सितम्बर श्रीमती सुनीति श्रीवास्तव

अक्तूबर श्रीमती वन्दना शुक्ला

नवम्बर श्रीमती उषा

दिसंबर श्री एस के मिश्रा

जनवरी सुश्री नीति शास्त्री

 

सभा अध्यक्षा प्राचार्या महोदया ने सभी को राजभाषा को हृदय से सम्मान देने तथा बच्चों में मातृभाषा के प्रति परेन जागृत करने हेतु सभी सदस्यों /शिक्षकों से अपील की। साथ ही वर्ष पर्यन्त “ हिन्दी” के सम्मान में कार्यक्रम गतिविधियां , प्रतियोगिताएं आयोजित करने हेतु मार्गदर्शन दिया। ,